राजनीति

चुनावी गहमागहिमा: इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने, जानिए क्या कहा कांगेस की गरिमा और भाजपा के मनवीर ने

Spread the love

electoral bond

देहरादून। एसबीआई के द्वारा सर्वाेच्च न्यायालय के समक्ष इलेक्टोरल बॉन्ड के खुलासे ने उजागर कर दिया भाजपा का बदसूरत चेहरा ये कहना है उत्तराखंड कांग्रेस की मुख्य प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसौनी का।

दसौनी ने कहा की सिलक्यारा टनल हादसा जिसने समूचे उत्तराखंड को 17 दिनों तक हिला कर रख दिया था और 41 मजदूर जीवन और मौत के बीच में झूलते रहे, जिस नवयुग कंपनी की कोताही और लापरवाही ने इस घटना को अंजाम दिया उस कंपनी पर आज तक भी धामी सरकार ने कोई कार्यवाही नहीं की उसका राज आज इलेक्टोरल बॉन्ड (electoral bond) की सच्चाई बाहर आने पर चली है

(electoral bond) :- दसौनी ने कहा की 18 अप्रैल 2019 और 10अक्टूबर 2022 में नवयुग कंपनी ने 90 करोड़ के बॉन्ड खरीदे और किस दल को दिए ये इस बात से साफ हो जाता है की आज तक इस घटना की जांच तक नहीं कराई गई

दसौनी ने कहा की ऐसा ही कुछ चमोली करेंट हादसे में भी हुआ उस हादसे में 15 से अधिक लोगों की जानें गई और जिस कंपनी के पास कॉन्ट्रैक्ट था उसे क्लीन चिट दे दी गई।

दसौनी ने कहा अभी तो ये खुलासे भाजपा राज में हो रहे भ्रष्टाचार की छोटी सी झलक हैं, ये तो ट्रेलर है पिक्चर तो अभी बाकी है।

दसौनी ने कहा की कुछ ने स्वेच्छा से तो कुछ से जबरदस्ती बॉन्ड लिए गए ये तथ्य बताते हैं।

दसौनी ने कहा की भाजपा इस खुलासे के बाद पारदर्शिता और राजनीतिक शुचिता की बात न ही करे तो बेहतर होगा।

 

 

पारदर्शिता की पक्षधर रही है भाजपा, आरोपों से कुछ नही होगा: मनवीर सिंह चौहान

भाजपा ने इलेक्ट्राल बौंड को लेकर कांग्रेस के आरोपों को राजनैतिक दुर्भावना से प्रेरित बताया

भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा इलेक्ट्राल बौंड (electoral bond) को चुनाव मे पारदर्शिता के लिए ही लायी है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के द्वारा बौंड के जरिये राजनैतिक दलों को दिये धन को सार्वजनिक करने के आदेश का पार्टी ने स्वागत किया है।

उन्होंने कहा कि सूची मे कांग्रेस सहित विपक्षी दलों को दिये गए का व्योरा भी है, लेकिन विपक्षी कांग्रेस इस और आँखे मूंदकर भाजपा को कोस रही है। चुनाव मे निष्पक्षता और सुचिता की बात हमेशा से होती रही है, लेकिन भाजपा ने इसे धरातल पर उतारने का कार्य किया है। बौंड का लक्ष्य चुनाव मे काले धन और अनुचित साधनों पर अंकुश लगाने का रहा।

चौहान ने कहा कि जनता चुनाव के नतीजों को तय करेगी न कि दलों के दिये गए धन से। कांग्रेस जनता के मूड को भांप चुकी है इसीलिए बौंड के बहाने भाजपा के खिलाफ दुष्प्रचार मे जुटी है। भाजपा जन बल से चुनाव जीतती रही है और कांग्रेस के किसी भी आरोप का जनता कड़ाई से जबाब देगी।

electoral bond :- उन्होंने कहा कि सिलक्यारा टनल की कंपनी के साथ आरोप लगाने वालो को यह समझने की जरूरत है कि किन परस्थितियों मे यह आपरेशन चला और लोग सुरक्षित निकाले गए। पूरी दुनिया की नजर इस रेस्क्यू आपरेशन पर टिकी थी और रेस्क्यू एजेंसियों ने बेहतर कार्य को अंजाम दिया तो पीएम और सीएम सहित पूरे अमले ने सारे संसाधन झोंक दिये थे। सुखद नतीजा सामने आया, लेकिन कांग्रेस को मजदूरों के जीवन की चिंता के बजाय राजनीति की अधिक फिक्र रही।

चौहान ने कहा कि जनता विपक्ष को हर सवाल का जवाब देगी और दुष्प्रचार का जवाब वोट से देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *