Home उत्तराखंड किशाऊ बांध परियोजना पर दिल्ली में हुई बैठक

किशाऊ बांध परियोजना पर दिल्ली में हुई बैठक

हर्षिता टाइम्स।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में प्रतिभाग किया। बैठक में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने वर्चुअल प्रतिभाग किया।
बैठक में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री धामी और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ठाकुर ने परियोजना के संबंध में अपने-अपने राज्य का पक्ष रखा।
मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि परियोजना डीपीआर की लागत बढ़ने की दशा में विद्युत घटक लागत को स्थिर रखा जाए अथवा बढ़ी हुई विद्युत घटक लागत को अन्य चार लाभार्थी राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान व दिल्ली द्वारा वहन किया जाए। ताकि राज्य के उपभोक्ताओं को सस्ती दर पर विद्युत आपूर्ति उपलब्ध हो सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राष्ट्रीय परियोजना, उत्तराखण्ड के विकास हेतु मील का पत्थर साबित होगी क्योंकि परियोजना विकास की अवधि में स्थानीय निवासियों व ग्रामीणों को आय वृद्धि के विभिन्न संसाधन यथा स्थाई व अस्थाई रोजगार प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से उपलब्ध होंगे। क्षेत्र के विकास व जनकल्याण हेतु समय- समय पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से क्षेत्र विशेष हेतु लाभप्रद योजनाएं विकसित की जाएगी, जिससे पलायन की समस्या पर काफी हद तक नियंत्रण किया जा सकेगा।
केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि आज की बैठक में उठाए गए बिंदुओ पर विचार विमर्श कर जल्द ही अगली बैठक आयोजित की जाएगी।
गौरतलब है कि किशाऊ बहुउद्देशीय बाँध परियोजना के क्रियान्वयन का कार्य उत्तराखण्ड एवं हिमाचल प्रदेश सरकार के संयुक्त उपक्रम किशाऊ कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। इस परियोजना को फरवरी 2008 में राष्ट्रीय परियोजना घोषित किया गया है। किशाऊ बाँध परियोजना एशिया का दूसरी सबसे बड़ी बाँध परियोजना होगी। जिसे इसकी ऊंचाई 236 मीटर एवं लम्बाई 680 मीटर होगी। किशाऊ परियोजना उत्तराखण्ड राज्य के जनपद देहरादून एवं हिमाचल प्रदेश के जनपद सिरमौर में टोंस नदी पर प्रस्तावित है, इसमें 1324 एम0सीए०एम० जीवत भण्डारण द्वारा 97076 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई, 617 एम०सी०एम० पेयजल एवं औद्योगिक उपयोग हेतु जल प्राप्त होगा, जिससे तीन राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान की सिंचाई आवश्यकता तथा दिल्ली की पेयजल आवश्यकता की पूर्ति की जा सकेगी, साथ ही साथ 660 मेगावाट जल विद्युत उत्पादन होगा, जिससे 1379 एम०यू० हरित विद्युत ऊर्जा प्राप्त होगी जो कि उत्तराखण्ड व हिमाचल प्रदेश को बराबर-बराबर प्राप्त होगी।
केन्द्रीय जल आयोग द्वारा परियोजना की कुल लागत मार्च, 2018 के मूल्य स्तर के अनुसार रू० 11550 करोड़, जिसमें जल घटक की लागत रु. 10013.96 करोड़ एवं विद्युत घटक की लागत रु. 1536.04 करोड़ आंकी गई है। वर्तमान में परियोजना की डीपीआर का कार्य प्रगति पर है, जिसमें परियोजना की लागत बढ़ने का अनुमान है।
राष्ट्रीय परियोजना होने के दृष्टिगत परियोजना के क्रियान्वयन हेतु जल घटक लागत (सिंचाई एवं पीने का पानी) का 90 प्रतिशत वित्तीय पोषण भारत सरकार द्वारा एवं 10 प्रतिशत वित्तीय पोषण लाभार्थी राज्यों द्वारा वहन किया जाएगा तथा विद्युत घटक लागत को उत्तराखण्ड व हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा संयुक्त रूप से बराबर-बराबर वहन किया जाना है।
बैठक में उत्तराखण्ड से सचिव आर मीनाक्षी सुन्दरम, हरि चंद्र सेमवाल व जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के अधिकारी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड का पहला ओटीटी प्लेटफार्म हुआ लांच

देहरादून। उत्तराखंड के पहले वीडियो ओटीटी प्लेटफार्म अम्बे सिने का शुभारम्भ संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा...

दो दिवसीय फिक्की फ्लोर बाजार संपन्न हुआ

हर्षिता टाइम्स। देहरादून, 02 अक्टूबर 2022: फिक्की फ्लो उत्तराखण्ड चैप्टर का दो दिवसीय फिक्की फ्लो बाजार  आज  धूम धाम से समाप्त हुआ । आज विधानसभा...

स्वच्छ भारत मिशन में उत्तराखंड नंबर वन

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। 2 अक्टूबर को विज्ञान भवन में राष्ट्रपति एवं जल शक्ति मंत्रालय के मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की उपस्थिति में उनके द्वारा 6...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

उत्तराखंड का पहला ओटीटी प्लेटफार्म हुआ लांच

देहरादून। उत्तराखंड के पहले वीडियो ओटीटी प्लेटफार्म अम्बे सिने का शुभारम्भ संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा...

दो दिवसीय फिक्की फ्लोर बाजार संपन्न हुआ

हर्षिता टाइम्स। देहरादून, 02 अक्टूबर 2022: फिक्की फ्लो उत्तराखण्ड चैप्टर का दो दिवसीय फिक्की फ्लो बाजार  आज  धूम धाम से समाप्त हुआ । आज विधानसभा...

स्वच्छ भारत मिशन में उत्तराखंड नंबर वन

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। 2 अक्टूबर को विज्ञान भवन में राष्ट्रपति एवं जल शक्ति मंत्रालय के मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की उपस्थिति में उनके द्वारा 6...

CM धामी ने उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को शहीद स्थल कचहरी में उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने कहा...

देहरादून में दिखेगा वर्चुअल बाजार

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। उत्तराखंड वर्चुअल बाजार ऑर्गेनाइजर ऋचा कर्णवाल ने प्रेसवार्ता करते हुए बताया कि 30 सितंबर से 2 अक्टूबर तक हिमालय गार्डन में हमारे...

बहु-प्रतीक्षित ऐक्शन थ्रिलर ‘विक्रम वेधा’ के साथ मोबिल ने साझेदारी की

देहरादून। भारत में इंजन ऑयल के प्रमुख ब्रांड, मोबिल ने बहु-प्रतीक्षित ऐक्‍शन थ्रिलर ‘विक्रम वेधा’ के साथ साझेदारी की है। विक्रम वेधा 30 सितम्बर...

दिल्ली के नवाब साहब का डीजे बैंड मचाएगा धूम

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। शारदीय नवरात्रि पर ‘द क्रिएटिव हब’ की और से एक अक्टूबर को कैनाल रोड स्थित लकसूरिया फार्म बाई सॉलिटियर में बारहवी डांडिया...

अच्छी खबर : उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड

हर्षिता टाइम्स। नई दिल्ली/देहरादून। विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर उत्तराखंड राज्य को पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बेस्ट एडवेंचर टूरिज्म डेस्टिनेशन और पर्यटन के...

CS डॉ संधु ने हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्याे का निरीक्षण किया

हर्षिता टाइम्स। मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने मंगलवार को हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही मास्टर...

पार्किंग्स के लिए साइट स्पेसिफिक कम्पलीशन प्लान तैयार करने के CS ने दिए निर्देश

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सोमवार को सचिवालय में प्रदेश में बनाई जाने वाली नई पार्किंग प्रोजेक्ट्स की प्रगति की...