ख़बरसारदेश-विदेश

मुकेश अंबानी ने निभाया वादा, भारत में बनेगा एआई आधारित सुपर कम्यूटर, Reliance और NVIDIA के बीच समझौता, भारत AI क्षेत्र में बड़ी ताकत बनकर उभरेगा

Spread the love

Reliance 

 

Reliance  एजीएम में मुकेश अंबानी ने हर भारतीय तक आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस पहुँचाने का किया था वादा

जियो प्लेटफॉर्म और एनविडिया के साथ आने से भारत आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में बड़ी ताकत बनकर उभरेगा

ये देश के उद्योगों को कई प्रतियोगी कंपनियों से आगे बढ़ने में मदद करेगा

 

Reliance
जियो प्लेटफार्म

हर्षिता टाइम्स।

जियो प्लेटफार्म ने घोषणा की है कि वह अत्याधुनिक क्लाउड बेस्ड आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का ढांचा बनाने के लिए एनवीडिया के साथ मिलकर काम करेगा। भारत पहले ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्षेत्र में आगे बढ़कर काम कर रहा है लेकिन जियो और एनवीडिया का साथ आना भारत को इस क्षेत्र में तेजी से बढ़ने ने मदद करेगा।

उद्योगपति मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली Reliance इंडस्ट्रीज ने अमेरिकी प्रौद्योगिक कंपनी एनवीडिया के साथ मिलकर भारत में कृतिम मेधा (एआई) पर आधारित सुपर कंप्यूटर बनाने की शुक्रवार को घोषणा की। एनवीडिया ने कहा रिलायंस के साथ समझैता भारत का अपना बड़ा भाषा मॉडल विकसित करेगा।

 

Reliance
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी

 

Reliance इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने हाल ही में कंपनी के एजीएम में एक बड़ा वादा किया था उन्होंने हर भारतीय तक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पहुंचाने का। मुकेश अंबानी के शब्दों में सात साल पहले रपव ने वादा किया था कि हम ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी को हर जगह, हर भारतीय तक पहुंचाएंगे। हमने वादा पूरा किया। आज जियो वादा कर रहा है कि हम देश के कोने कोने में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस हर भारतीय तक पहुंचाकर ही दम लेंगे।

 

 

 

 

 

नया एआई क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर भारत भर में रिसर्चर्स, डेवलपर्स, स्टार्टअप, वैज्ञानिकों, एआई प्रेक्टिशनर्स और अन्य लोगों को इंस्टेंट कंप्यूटिंग और हाई-स्पीड, सुरक्षित क्लाउड नेटवर्किंग तक पहुंचने में सक्षम करेगा ताकि कार्यभार को सुरक्षित रूप से और अत्यधिक एनर्जी कुशलता से चलाया जा सके।

नया बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर भारत की प्रमुख पहलों और एआई परियोजनाओं की एक विस्तृत सीरीज को गति देगा, जिसमें एआई चौटबॉट, ड्रग डिस्कवरी, क्लाइमेट रिसर्च और बहुत कुछ शामिल हैं।

 

Reliance को मिलेगा NVIDIA का सुपरचिप :-

एशिया के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी की अध्यक्षता वाली Reliance इंडस्ट्रीज ने अमेरिका स्थित चिप बनाने वाली कंपनी एनविडिया के साथ मिलकर भारत को एक ऐसा जनरेटिव एआई एप्लीकेशन देने का फैसला किया है। जो विभिन्न भारतीय भाषाओं पर आधारित होगा। एनविडिया ने इस मौके पर एक बयान जारी कर कहा है कि वह भारत में एआई इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण के लिए रिलायंस के साथ काम करेगी। साथ ही एनविडिया ने मीडिया को यह भी बताया है कि चिप निर्माता द्वारा रिलायंस को उसके जीएस200 ग्रेस हॉपर नामक सुपरचिप तक पहुंच भी प्रदान की जाएगी और इसके साथ ही डीजीएक्स क्लाउड भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

 

 

 

 

 

बनाए जाएंगे डाटा केंद्र :-

एनविडिया द्वारा बनाए गए एआई इंफ्रास्ट्रक्चर की मदद से Reliance एआई एप्लीकेशन और सुविधाओं का निर्माण करेगा। एनविडिया का कहना है कि एआई इंफ्रास्ट्रक्चर की मदद से एआई के लिए तैयार कंप्यूटिंग डाटा केन्द्रों का निर्माण किया जाएगा और आगे चलकर इनकी क्षमता को बढ़ाकर 2000 मेगावाट कर दिया जाएगा। साथ ही एनविडिया ने यह भी बताया है कि इन डाटा केन्द्रों को लागू करने और इनकी देखभाल का जिम्मा जिओ का होगा। सूत्रों की मानें तो रिलायंस द्वारा विदेशी चिप निर्माता कंपनियों के साथ भी बातचीत की जा रही है और इस बातचीत का मुख्य उद्देश्य भारत में एआई को बढ़ावा देना ही है।

 

 

 

 

https://hindi.webdunia.com/national-hindi-news/reliance-and-nvidia-will-together-create-ai-based-supercomputer-123090800077_1.html

रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड के चेयरमैन आकाश अंबानी ने कहा कि ‘‘जियो में, हम अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी की उपलब्धता और उपयोग को लोकतांत्रिक बनाकर भारत की तकनीकी क्रांति को प्रोत्साहित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

एनवीडिया के साथ हमारा सहयोग इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। साथ मिलकर, हम एक एडवांस्ड एआई क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करेंगे जो सुरक्षित हो, सस्टेनेबल और भारत के अद्वितीय अवसरों के लिए काफी अधिक महत्वपूर्ण है। यह अत्याधुनिक प्लेटफॉर्म हेल्थकेयर और शिक्षा से लेकर एंटरप्राइज सॉल्यूशंस तक सभी क्षेत्रों में एआई-संचालित इनोवेशंस में तेजी लाने में सहायक साबित होगा।

हमारा लक्ष्य एआई को देश भर के रिसर्चर्स, स्टार्ट-अप और उद्यमों के लिए सुलभ बनाना है, ताकि भारत को तेजी से एआई पावरहाउस बनने की दिशा में आगे बढ़ाया जा सके।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *