अपराधउत्तराखंड

सांप को सपेरे ने हत्या में बनाया हथियार

Spread the love

सांप

हर्षिता टाइम्स।
नैनीताल, 18 जुलाई। नैनीताल पुलिस ने किया है प्रदेश के सबसे सनसनीखेज मामले का खुलासा।

तीनपानी गोलापास रोड़ पर एक कार के अन्दर संदिग्ध अवस्था में पिछली सीट पर मृत मिला था अंकित चौहान।

प्रथम दृष्टया मृतक के शरीर में कोई चोट आदि के निशान नही थे जिससे उक्त व्यवसायी की मृत्यु स्पष्ट नही हो पा रही थी।

मृतक अंकित की बॉडी की बारीकी से निरीक्षण करने पर पाया गया कि उसके दोनों पैरों के पिछले हिस्से में दो जगह सर्पदंश के निशान थे पोस्टमार्टम में डॉक्टर द्वारा भी सर्पदंश की पुष्टि की गयी ।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद एसएसपी पंकज भट्ट की आंखों में दोनों पैरों में सर्पदंश की बात खटकने लगी और एसएसपी पंकज भट्ट ने तत्काल अधीनस्थों के साथ मीटिंग कर घटना के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा करते हुए एवं पोस्टमार्टमकर्ता चिकित्सकों से मृत्यु के कारणों के सम्बन्ध में जानकारी करने के उपरान्त घटना के समस्त पहलुओं की गहनता से जाँच करने हेतु अधीनस्थों को निर्देश देते हुए एसपी सिटी हरबंस सिंह और सीओ भूपेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया।

एसएसपी पंकज भट्ट ने सनसनीखेज हत्याकांड के खुलासे के लिए स्वयं संभाला मोर्चा और विशेष टीम से लेने लगे पल-पल की जानकारी, देने लगे जरूरी दिशा-निर्देश

पुलिस जांच में संज्ञान में आया कि मृतक का किसी महिला के साथ सम्बन्ध था बारीकी से सीसीटीवी कैमरा और कॉल डिटेल जांचने पर पुलिस को मिला एक संदिग्ध नंबर जब उसकी जानकारी पुलिस ने जुटाई तो वो सपेरा निकला

पुलिस ने सपेरे को अपनी गिरफ्त में लेकर जब सख्ती से पूछताछ की खुल गया सारा मामला और सनसनीखेज हत्याकांड से उठ गया पर्दा

सपेरे रमेश ने पुलिस को बताया कि सबकुछ तय होने के बाद एक जहरीला नाग पकड़ कर उसने अपने पास रख लिया और यह बात माही एंव उसके साथियों को बता दी

सांप से डसवा दिया :-

14 जुलाई को योजनानुसार उसने वा उसके साथियों ने अंकित के पैरों में सांप से डसवा दिया जब कुछ देर तक भी अंकित के शरीर में हरकत होती रही, तो साथियों ने कहा कि शायद जहर का असर नही हुआ है।

फिर मैंने दोबारा अंकित के पैर में सांप से डसवाया और ये लोग अंकित के मरने तक उसको दबाये रहे। फिर कुछ देर बाद जब अंकित मर गया तो उसके शव को उसकी कार में रखकर पहले उसे भुजियाघाट से नीचे खाई में फैंकने के लिए लेकर गये थे।

लेकिन सम्भव ना होने पर उसके शव को उसकी कार में ही गौला बाईपास रोड पर तीनपानी के पास छोड़कर भाग गये थे।

हत्याकांड में शामिल सपेरे रमेश के साथियों की गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस की कई टीमें दबिश दे रही हैं।

एसएसपी पंकज भट्ट ने दिया खुलासा करने वाली टीम को 5000 रूपये का इनाम।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *