Home ख़बरसार साइबर अपराध से निपटने के लिए उत्तराखण्ड पुलिस की नई पहल, पढ़िये पूरी खबर

साइबर अपराध से निपटने के लिए उत्तराखण्ड पुलिस की नई पहल, पढ़िये पूरी खबर

साइबर अपराध से निपटने के लिए उत्तराखण्ड पुलिस की नई पहल, पढ़िये पूरी खबर
Spread the love

हर्षिता टाइम्स।
देहरादून। दूसरे पुलिस हैकाथॉन में 1000 से अधिक प्रतिभागी एवं देश के हर राज्य से 500 टीमों द्वारा पंजीकरण।
भारत की आजादी के अमृत महोत्सव के पर्व पर उत्तराखण्ड पुलिस को नये आधुनीकिकरण समाधान मिलेगें
पंजीकरण की अंतिम तिथि 22.07.2022
PRIZE MONEY – 6 LAKH RUPEES
SEED MONEY – 1 CRORE RUPEES
(motivational rewards/cash prize directly by Sponsors to winners)

वर्तमान में साइबर अपराधो में काफी तेजी से वृद्धि हो रही है। जिसमे विभिन्न प्रकार के साइबर अपराध देशो के कोने कोने से सामने आ रहे है । साइबर अपराध बढ़ने का एक महत्वपूर्ण कारण दिन प्रतिदिन विभिन्न प्रकार की तकनीको की उन्नति भी है। इस कारण यह भी महत्वपूर्ण हो जाता है कि पुलिस भी अपने संसाधनो में अधिक से अधिक तकनीकी सुधार करने का प्रयत्न कर रही है । जिसका उद्देश्य 21वीं सदी में साइबर अपराध की चुनौती पर एकजुट होकर इससे मुकाबला करने के लिये अपना कौशल विकास (Skill Development) को और बेहतर बनाना है। जिसके रजिस्ट्रेशन कराने की आखरी तिथि 22.07.2022 है।

इसी क्रम में पुलिस को साइबर अपराध से निपटने हेतु नये-नये टूल्स की आवश्यकता है। विगत वर्ष राष्ट्रीय स्तर पर Hackathon प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसकी गृह मंत्रालय भारत सरकार व विभिन्न राज्यों द्वारा सराहना की गयी।

विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी माह अगस्त में Hackathon प्रतियोगिता की द्वितीय श्रृखंला का आयोजन कराया जा रहा है। उक्त प्रतियोगिता भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान IIT ROORKEE के साथ मिलकर IIT ROORKEE में आयोजित करायी जायेगी। उक्त प्रतियोगिता में महिन्द्रा कम्पनी (TECH MAHINDRA & MAHINDRA DEFENCE) द्वारा उत्तराखण्ड पुलिस का सहयोग INNOVATION PARTNER TECHNOLOGY INNOVATION HUB (TIH) द्वारा किया जायेगा। जिसके SPONSOR- SYSTOOLS, NET FOR CHOICE, SAS, FORENSIC GURU आदि सामने आ चुके हैं। जिनके द्वारा प्रतिभागियों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी। महिन्द्रा कम्पनी उत्तराखण्ड पुलिस औद्योगिक भागीदार के रुप में शामिल हो रहा है। बहुत जल्द भारत की अन्य बड़ी IT कम्पनियों के साथ प्रतियोगिता हेतु साझेदारी स्थापित की जायेगी एवं इस वर्ष उक्त प्रतियोगिता को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कराने हेतु प्रयासरत है।

उक्त प्रतियोगिता तीन चरणों में आयोजित करायी जायेगी। जिसमें प्रतियोगी के द्वारा अधिकारिक वैबसाईट https://iitr.ac.in/dch/ के माध्यम से पंजीकरण कराया जा सकता है। जिसका प्रथम चरण माह जुलाई में प्रारम्भ होकर माह जुलाई के अन्त में समाप्त होगा, तथा माह जुलाई अन्त में ही प्रारम्भिक चरण का परिणाम घोषित किया जायेगा। घोषित परिणामों में समल प्रतिभागी टीमों को द्वितीय चरण हेतु IIT ROORKEE में 48 घण्टे पुलिस की विभिन्न तकनीकी समस्याओं का हल निकालना होगा। पुलिस की जटिल समस्याओं को कम करने हेतु सबसे अच्छी व प्रभावी रुप से चयनित प्रतिभागी टीमों को भारत की आजादी के अमृत महोत्सव पर उनके उत्साहवर्धन हेतु महिन्द्रा कम्पनी द्वारा सीधे पुरुष्कृत किया जायेगा।

प्रभारी एसटीएफ द्वारा बताया गया कि इस सम्पूर्ण प्रक्रिया से एक स्मार्ट पुलिस की तरफ बढ़ते हुये विभिन्न पहलुओं पर जटिल समस्याओं से निपटने हेतु नये-नये समाधानों का एक मार्ग स्थापित होगा। जो कि स्मार्ट पुलिसिंग की और उत्तराखण्ड पुलिस का एक और अहम योगदान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here