उत्तराखंड

निर्माण कार्य के धनराशि की सीमा असीमित की जाएगी : महाराज

Spread the love

हर्षिता टाइम्स।
देहरादून, 01 जुलाई। ग्रामीण निर्माण विभाग का स्वरूप अन्य सभी अभियान्त्रिक विभागों की भाँति होने के कारण निर्माण कार्य किये जाने की सीमा 015.00 करोड़ से बढाकर असिमित किये जाने पर मंथन चल रहा है। चूंकि वर्तमान में विभाग द्वारा अन्य गैर अभियान्त्रिकी विभागों के निर्माण कार्य कराये जा रहे हैं इसलिए गैर अभियान्त्रिकी विभागों की कार्यदायी संस्था ग्रामीण निर्माण विभाग को बनाये जाने हेतु भी विचार किया जा रहा है।
रिंग रोड स्थित एक होटल में ग्रामीण निर्माण विभाग की स्थापना के 50 वर्ष पूरे होने पर आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह में प्रदेश के पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने ग्रामीण निर्माण विभाग की स्थापना के स्वर्ण जयंती समारोह में बतौर मुख्य अतिथि अपने संबोधन में कही।
ग्रामीण निर्माण मंत्री ने बताया कि नाबार्ड पोषित एवं राज्य योजना के अन्तर्गत कुल 201 ग्रामीण मोटर मार्गों (लम्बाई 386.663 कि.मी.) का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया, जिसमें 314 ग्रामों की कुल 1,54,993 जनसंख्या लाभान्वित हुई है। प्रदेश में कार्यरत तकनीकी विभागों, कार्यदायी संस्थाओं में ग्रामीण निर्माण विभाग द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यों हेतु स्थापना व्यय (वित्तीय वर्ष 2021-22 में 7.55 प्रतिशत) न्यूनतम है।
उन्होंने कहा कि सरकार की जन उपयोगी योजनाओं को त्वरित गति से पूर्ण करने हेतु विभागीय कार्यक्षमता को बढ़ाया जाना अति आवश्यक है। प्रदेश की ऐसी बसावटें जो पी.एम.जी.एस.वाई. अथवा अन्य कारणों से संयोजित होने से छूट गई है, उनके संयोजन हेतु ग्रामीण निर्माण विभाग द्वारा प्राथमिक सर्वे कर डाटा बेस तैयार किया जा चुका है। ऐसी बसावटों को प्रतिबद्ध रूप से संयोजित किये जाने हेतु मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना को लागू किये जाने पर विचार किया जा रहा है।
इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित रायपुर विधायक उमेश शर्मा ‘काऊ’ ने भी ग्रामीण निर्माण विभाग की कार्यशैली की प्रशंसा करते हुए हर संभव सहयोग की बात कही।
स्वर्ण जयंती समारोह में देहरादून मेयर सुनील उनियाल गामा, ग्रामीण निर्माण विभाग के सचिव नितेश झा, मुख्य अभियंता एवं विभागाध्यक्ष अजय कुमार पंत, मुख्य अभियंता (कुमाऊं) नवीन चंद्रा, पूर्व मुख्य अभियंता बी.एस. कैडा, पूर्व मुख्य अभियंता वाई. डी. पांडे, भाजपा रायपुर मंडल अध्यक्ष रूद्रेश शर्मा, महामंत्री मुकेश सुंद्रियाल, उपाध्यक्ष उज्जवला नेगी, मंडल मंत्री सुदर्शन चौधरी, तपोवन भाजपा मंडल अध्यक्ष बीना बहुगुणा, सहित नगर निगम क्षेत्र रायपुर के अनेक पार्षद एवं भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *