अपराधउत्तराखंड

नाबालिक बच्चियों की गला घोंट कर हत्या करने वाले पिता को पुलिस ने 24 घन्टे के अन्दर गिरफ्तार कर घटना का किया खुलासा

Spread the love

नाबालिक बच्चियों की

हर्षिता टाइम्स।

दोहरे हत्या कांड की घटना का विवरण

थाना डोईवाला पर दिनांक 23/06/23 को सूचना मिली कि कांटा चौक के पास केशवपुरी बस्ती मे एक घर मे 02 बालिकाओ के शव पड़े है, सम्भवतः किसी व्यक्ति द्वारा उक्त बालिकाओ की हत्या कर दी गयी है । प्राप्त उक्त सूचना पर प्रभारी निरीक्षक डोईवाला मय फोर्स के घटनास्थल पर रवाना हुए। मौके पर जाकर देखा तो एक घर मे दो बालिकाओ का शव पड़े था, मौके पर मौजूद लोगो से पूछताछ की गयी तो उक्त मृत बालिकाओ की शिनाख्त 1-आंचल उम्र 3 ½ वर्ष 2-अनुषा उम्र 1 ½ वर्ष पुत्रीगण जितेन्द्र साहनी पुत्र राजेन्द्र साहनी निवासी- केशवपुरी बस्ती डोईवाला मूल निवासी- ग्राम फजला थाना तारसराय, जिला दरभगां बिहार के रूप मे हुयी । मौके पर मृत बालिकाओ की नानी आसु देवी पत्नी अशोक साहनी निवासी केशवपुरी बस्ती डोईवाला देहरादून मौजूद थी, जिसके द्वारा बताया गया कि दिनांक 23/06/23 को वादिनी के दामाद जितेन्द्र साहनी उपरोक्त द्वारा वादिनी की 02 नातिन उपरोक्त की हत्या कर शवो को छुपाने के आशय से कमरे मे बन्द करके कही भाग गया है। उक्त घटना के सम्बन्ध मे मृत बालिकाओ की नानी श्रीमती आसु देवी द्वारा थाना हाजा पर लिखित रूप से प्रा0पत्र दिया गया । प्रा0पत्र के आधार पर थाना डोईवाला पर मु0अ0सं0:- 207/2023 धारा- 302/201 भादवि बनाम- जितेन्द्र साहनी पंजीकृत किया गया। मौके से उक्त मृत बालिकाओ को अस्पताल भेजा गया तथा चिकित्सक द्वारा उक्त दोनो बालिकाओ को मृत घोषित किया गया । रात्रि होने के कारण डोईवाला पुलिस द्वारा शवो को अपने कब्जे मे लेकर मोर्चरी भिजवाया गया तथा अगले दिन शवो का पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम हेतु भिजवाया गया ।
प्रभारी निरीक्षक डोईवाला द्वारा तत्काल उक्त घटना की जानकारी उच्चाधिकारीगणो को दी गई। अबोध बालिकाओं की हत्या की घटना की गंभीरता के दृष्टिगत दलीप सिंह कुंवर (पुलिस उप-महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून) द्वारा घटना के अनवारण तथा पँजीकृत अभियोग मे अभियुक्त की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश निर्गत किये गये। निर्गत निर्देशो के क्रम मे सर्वेश पवांर (पुलिस अधीक्षक अपराध,देहरादून) कमलेश उपाध्याय (पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, देहरादून) तथा अनिल कुमार शर्मा (क्षेत्राधिकारी डोईवाला,देहरादून) के निकट पर्यवेक्षण व मार्ग दर्शन मे प्रभारी निरीक्षक डोईवाला द्वारा प्रभावी योजना तैयार कर थाना डोईवाला पर उपयुक्त कर्मीयो का चयन कर व0उ0नि0 के नेतृत्व मे पुलिस टीम गठित कर अभियुक्त की तलाश/गिरफ्तारी हेतु उत्तर प्रदेश व बिहार रवाना की गयी। DIG/SSP देहरादून द्वारा अभियुक्त की शीघ्र गिरफ्तारी सुनिश्चित करने हेतु पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई की नियमित रूप से समीक्षा करते हुए पुलिस टीमों को लगातार आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

घटना अनावरण हेतु पुलिस कार्यवाही

गठित पुलिस टीम द्वारा सूचना तन्त्र को सक्रिय कर घटनास्थल के आस-पास व अभियुक्त के आने जाने वाले लगभग 100-150 स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरो का अवलोकन कर हत्या के अनावरण हेतु उच्चस्तरीय सुरागरसी-पतारसी करते हुए मुखबिर नियुक्त किये गये। गठित टीम के भरकस प्रयासो के उपरान्त पुलिस टीम को सूचना प्राप्त हुयी कि अभियुक्त जितेंद्र साहनी उपरोक्त डोईवाला से जनता एक्सप्रेस ट्रेन में अपने मूल गांव बिहार जाने के लिए बैठा है। इस सूचना पर गठित पुलिस टीम द्वारा तुरन्त अपने वाहनो से सडक मार्ग द्वारा जनता एक्सप्रेस ट्रेन का पीछा करते हुए एक टीम द्वारा उक्त ट्रेन का पीछा कर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर उक्त ट्रेन मे चढने मे सफलता मिली तथा दूसरी टीम लगातार सडक मार्ग से उक्त ट्रेन का पीछा करती रही। मुरादाबाद में जनरल बुग्गी के डिब्बों एवं स्लीपर क्लास के डिब्बों को चैक कर अभियुक्त की तलाश की गयी, परन्तु अभियुक्त ट्रेन मे नही मिला। दूसरी पुलिस टीम जो कि उक्त ट्रेन का लगातार पीछा करते हुए चारबाग लखनऊ रेलवे स्टेशन पहुंची। SOG देहात से तकनीकी सहयोग लेकर दोनो टीमो ने मिलकर स्टेशन पर अभियुक्त की तलाश/चैकिंग की गयी। पुलिस को चैकिग करता देख ट्रेन मे छुपकर बैठा अभियुक्त भीड का फायदा उठाकर ट्रेन से उतरकर भागने लगा, चूँकि सीसीटीवी से प्राप्त फुटैज के आधार पर अभियुक्त की पहचान पुलिस टीम को थी, इस कारण पुलिस टीम मे नियुक्त कर्मीयो द्वारा अभियुक्त को पहचान लिया गया और चारबाग रेलवे स्टेशन लखनऊ पर अभियुक्त को पकड लिया गया।

अभियुक्त से पूछताछ का विवरण

अभियुक्त उपरोक्त से घटित हत्या की घटना के बारे में पूछा तो ना-नुकुर करते हुए स्पष्ट नहीं बताया, किंतु मुकदमा में नामजद/संदिग्ध होने के कारण अभियुक्त से विस्तृत पूछताछ करने हेतु अभियुक्त को लखनऊ उ0प्र0 से हिरासत पुलिस लिया गया। अभियुक्त जितेंद्र साहनी को थाना डोईवाला पर लाकर कड़ाई से विस्तृत पूछताछ करने पर अभियुक्त जितेंद्र साहनी उपरोक्त बताया कि वर्ष 2018 में मेरी शादी रीना निवासी केशवपुरी बस्ती डोईवाला देहरादून से हुई थी। इसके पश्चात रीना से मेरी दो लड़कियां आंचल एवं अनुषा पैदा हुई। मेरी बीवी रीना किसी और व्यक्ति से फोन पर अक्सर बातें किया करती थी, एक बार वह भागकर बिहार भी चली गई थी, मैं उसे बिहार से वापस लाया था, किन्तु फिर वह लगातार उसी के संपर्क में थी। यह बातें मुझे बिल्कुल अच्छी नहीं लगती थी, इस बात पर कई बार हमारा झगड़ा एवं गृह क्लेश होता था। वह 2 महीने से हैदराबाद में ही है। अब मैं भी बिहार से दूसरी शादी करना चाहता था, किंतु बच्चों के कारण मेरी दूसरी शादी नहीं हो पा रही थी। मैंने कई बार अपने बच्चों की मां रीना एवं अपनी सास आसु देवी उर्फ रासो देवी को भी कहा था कि इन बच्चों को लेकर जाओ नहीं तो मैं इनको मार दूंगा, किंतु वे बच्चों को लेकर नहीं गए। इनके कारण मेरी भी दूसरी शादी नहीं हो पा रही थी। दिनांक 23/06/23 की शाम को लगभग 4:00 बजे के आसपास अपने घर की कमरे की कुंडी बंद करके मैंने कमरे में पहले अपनी बड़ी लड़की आंचल का गला घोटा, वह एक बार चिल्लाई भी थी, किंतु मैंने उसका गला जोर से घोट कर मार दिया था, इसके बाद मैंने अपनी छोटी लड़की अनुषा का भी गला घोट कर मार दिया था, तथा कुंडी लगा कर मैं पुलिस से बचने के लिए जनता ट्रेन से रेलवे स्टेशन डोईवाला से बैठकर बिहार जा रहा था, कि पुलिस ने लखनऊ में मुझे पहचान लिया और मुझे पकड़ लिया।
अभियुक्त द्वारा अपना जुर्म स्वीकार किये जाने पर डोईवाला पुलिस द्वारा अभियुक्त को दिनांक 24-06-2023 को नियमानुसार गिरफ्तार किया गया ।
अभियुक्त को नियमानुसार न्यायालय में अग्रिम कार्यावही हेतू पेश किया जा रहा है तथा अभियुक्त के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।

गिऱफ्तार अभियुक्त का विवरण

जितेन्द्र साहनी पुत्र राजेन्द्र साहनी निवासी केशवपुरी बस्ती, डोईवाला मूल निवासी ग्राम फजला, थाना तारसराय, दरभगां, बिहार, उम्र- 24 वर्ष

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *