कोविड-19

पूरी शक्ति से करें जरूरतमंदों की सहायता पर अपने को भी रक्खें सुरक्षित-प्रीतम सिंह

Spread the love

देहरादून: उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के द्वारा स्थापित राज्य स्तर व जिला स्तर पर कोविड19 कंट्रोल रूम के प्रभारियों की वर्चुअल बैठक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कांग्रेस कंट्रोल रूम द्वारा किये जा रहे सहायता कार्यों की समीक्षा की व नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर इंदिरा हृदयेश, प्रदेश कण्ट्रोल रूम प्रभारी सूर्यकांत धस्माना ,सोशल मीडिया अध्यक्ष शिल्पी अरोड़ा समेत बैठक में उपस्थित जिला अध्यक्षों से विस्तार से चर्चा कर आगे की रणनीति तैयार की । प्रीतम सिंह ने प्रदेश कण्ट्रोल रूम में व जनपदों में स्थापित जिला कण्ट्रोल रूमों में कार्य करने वाले पार्टी के साथियों को बधाई देते हुए कहा कि पिछले वर्ष भी कांग्रेस के प्रत्येक कार्यकर्ता ने कोविड19 के पहले दौर में राज्य भर में जरूरतमंद लोगों की हर संभव सहायता की व इस बार भी प्रदेश मुख्यालय में व हर जनपद में कोविड कण्ट्रोल रूम के माध्यम से बीमार लोगों की सहायता कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जहां एक ओर पार्टी के कार्यकर्ता लोगों की सहायता बैड आईसीयू ऑक्सीजन इंजेक्शन दिलवाने में कर रहे हैं वहीं वे स्वयं और नेता प्रतिपक्ष सरकार पर सुविधाओं को बढ़ाने के लिए दबाव बना रहे हैं । उन्होंने पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं से लोगों की पूरी शक्ति से सहायता करने की अपील की परन्तु साथ ही अपनी सुरक्षा का ख्याल रखने के लिए भी आग्रह किया।

प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा कि उत्तराखंड में जिस तरह से पार्टी कार्यकर्ता अपनी जान हथेली में रख कर जरूरतमंद लोगों की सहायता कर रहे हैं वो काबिले तारीफ है । उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पर स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने के लिए पार्टी को सरकार पर लगातार दबाव बनाए रखना है। उन्होंने कण्ट्रोल रूम में आपसी तारतम्य बनाने सभी महत्वपूर्ण जानकारियां साझा करने को कहा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि राज्य में लचर स्वास्थ्य सेवाओं का जिक्र करते हुए कहा कि आज लोग बैड आक्सीजन व इंजेक्शन के लिए दर दर भटक रहे हैं और सरकार केवल घोषणाएं कर रही काम नहीं कर पा रही। उन्होंने कहा कि हल्द्वानी कुमाऊं व देहरादून गढ़वाल का केंद्र है और सारा दबाव इन्हीं दो जिलों पर ज्यादा है इसलिए सरकार को इस आपातकाल में इन केंद्रों पर ध्यान दे कर स्वास्थ्य सेवाओं को ज्यादा से ज्यादा मजबूत करना चाहिए व पर्वतीय जनपदों में जो वर्तमान में सुविधाएं उपलब्ध हैं उनको भी समानांतर मजबूत करना चाहिए।
प्रदेश कण्ट्रोल रूम प्रभारी व प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि एआईसीसी द्वारा कण्ट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश मिलते ही पीसीसी अध्यक्ष ने उनको राज्य में एक प्रदेश स्तरीय व हर जनपद में जिला स्तरीय कण्ट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए थे और 19 अप्रैल को ही उन्होंने प्रदेश मुख्यालय में राज्य स्तरीय व सभी संगठनात्मक 26 जनपदों में जिला कण्ट्रोल रूम स्थापित कर दिए थे जो उसी दिन से कार्य कर रहे हैं। श्री धस्माना ने कहा कि उनको रोज़ सैकड़ों काल आ रहे हैं और अधिकांश लोगों की मांग बैड आईसीयू वेंटिलेटर ऑक्सीजन व रेमिडिसेर इंजेशन की ही होती है। उन्होंने कहा कि रोजाना वे अस्पतालों में बैड आईसीयू की उपलब्धता का अपडेट ले कर व ऑक्सीजन व रेमिडिसेर की उपलब्धता की स्थितियों के अनुसार लोगों को यथा संभव सहायता पहुंचने की कोशिश करते हैं।
बैठक में प्रदेश महामंत्री नवीन जोशी व निम्न जिलाध्यक्ष नैनीताल के सतीश नैलवाल, हल्द्वानी के राहुल छिमवाल, परवादून गौरव सिंह, पछवादून संजय किशोर, टिहरी राकेश राणा, उत्तरकाशी राजेन्द्र राणा, पौड़ी कामेश्वर राणा, चमोली वीरेंद्र रावत, रुद्रप्रयाग ईश्वर सिंह बिष्ट,महानगर देहरादून लाल चंद शर्मा, संदीप सहगल, रुद्रपुर हिमांशु गाबा, हरिद्वार संजय अग्रवाल ,पिथौरागढ़ त्रिलोक सिंह माहार, बागेश्वर लोकमणि पाठक,काशीपुर जितेंद्र शर्मा,मुशर्रफ हुसैन, मुक्ता सिंह,अरुण चौहान ने भी अपने सुझाव रक्खे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *