Home उत्तराखंड गाइड बनना है तो जंगल से करिये प्यार, जिलाधिकारी पौड़ी ने किया शुभारंभ

गाइड बनना है तो जंगल से करिये प्यार, जिलाधिकारी पौड़ी ने किया शुभारंभ

0
गाइड बनना है तो जंगल से करिये प्यार, जिलाधिकारी पौड़ी ने किया शुभारंभ
Spread the love

tourism in uttarakhand

पौड़ी। पौड़ी को पर्यटन प्रदेश बनाने की दिशा में तेजी से बढ़ाए जा रहे कदमों की कड़ी में अब यहां हेरिटेज टूर भी सैलानियों को आकर्षित करेंगे। इसके लिए पौड़ी में पर्यटकों की सुविधा के लिए स्थानीय स्तर पर हेरिटेज टूर गाइड तैयार किए जा रहे है।

tourism in uttarakhand यहां की आर्थिकी से जुड़ा महत्वपूर्ण पहलू है। इसे देखते हुए सरकार भी पर्यटकों को ऐसे स्थलों पर ले जाने की दिशा में कदम बढ़ा रही है, जो उनकी नजरों से अपेक्षाकृत दूर ही रहे हैं। ऐसे में टूरिस्ट गाइड का करियर आजकल काफी आकर्षक और फायदेमंद साबित हो रहा है. इस फील्ड में अधिक रोजगार पैदा करने की क्षमता है.

पर्यटन विभाग उत्तराखण्ड और टूरिज्म एवं हॉस्पिटैलिटी स्किल काउंसलिंग के तत्वावधान में दस दिवसीय नि:शुल्क हेरिटेज टूरिज्म गाइड का प्रशिक्षण पौड़ी में प्रारंभ हो गया है। प्रशिक्षण का शुभारंभ पौड़ी जिलाधिकारी आशीष चौहान ने किया।

उद्धघाटन समारोह में जिलाधिकारी ने प्रशिक्षुओं से कहाँ कि अगर उन्हें अच्छा गाइड बनने के लिए जंगल से प्यार करो और साथ ही एक अच्छा फोटोग्राफर भी बनो। साथ ही अपनी पढाई भी पूरी करो। उन्होंने कहा कि गाइड क्षेत्र में ज्यादा सफल होने के लिए वो साथ में रेस्टोरेंट, राफ्टिंग या साहसिक गतिविधियों से संबंधित कार्य भी कर सकते है। उन्होंने सभी प्रशिक्षुओं को उनके उज्जवल भविष्य के बारे में शुभकामनाये दी।

tourism in uttarakhand

tourism in uttarakhand :- उद्धघाटन समारोह में जिला पर्यटन विकास अधिकारी प्रकाश सिंह खत्री ने सभी प्रशिक्षुओं को ‘ट्रैवल फॉर लाइफ’ की शपथ दिलवाई। ‘ट्रैवल फॉर लाइफ’ पर्यटन की दिशा में एक वैश्विक आंदोलन है। यह आंदोलन पर्यटकों और पर्यटन व्यवसायों दोनों को संरक्षण के उद्देश्य से सीधे उपायों को अपनाने के लिए प्रेरित करना चाहता है।

tourism in uttarakhand आने वाला भविष्य हेरिटेज टूरिज्म का है :-

उद्धघाटन समारोह शुरू होने से पहले पर्यटन विभाग की अपर निदेशक पूनम चंद ऑनलाइन जुडी। उन्होंने बताया कि आने वाला भविष्य हेरिटेज टूरिज्म का है। इसके लिए युवाओं को अपने क्षेत्र की इतिहास और ऐतिहासिक स्थलों की गहन जानकारी होनी जरूरी है। पूनम चंद ने सभी प्रशिक्षुओं से बात करके उनके पृष्ठभूमि, रूचि और व्यवसाय के बारे में जानकरी ली।

पौड़ी में हास्पिटेलिटी स्किल काउंसिल (टीएचएससी) के माध्यम से युवाओं को हेरिटेज टूर गाइड का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। गाइड प्रशिक्षण के पौड़ी बैच में प्रतिभागियों को प्रशिक्षण के लिए रजिस्ट्रेशन हुआ है। 10 दिन के प्रशिक्षण के बाद टूरिस्ट गाइड का सर्टिफिकेट दिया जाएगा।

tourism in uttarakhand :- इस प्रशिक्षण की अवधि 10 दिन होगी जिसमे पौड़ी एवं आसपास के पर्यटन एवं अन्य क्षेत्र के विशिष्ट व्यक्तियों द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षुओं को हेरिटेज टूरिज्म और हेरिटेज टूर गाइड की प्रस्तुति, व्यवहार, संचार, उत्तराखंड विरासत स्थल के रूप में तथा सतत और जिम्मेदार पर्यटन आदि विभिन्न पक्षों पर प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षुओं को हेरिटेज साइट की यात्रा भी कराई जाएगी।

प्रशिक्षण के लिए 12वीं पास 18 से 55 साल तक की आयु का कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है। ट्रेनिंग पार्टनर समर्पित मीडिया सोसाइटी द्वारा पौड़ी में ट्रेनिंग का सञ्चालन किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here