शिक्षा

टीला व चाकीसैंण इंटर कालेज की बदलेगी सूरत, 42 लाख की धनराशि मंजूर: डॉ. धन सिंह रावत

Spread the love

Tila and Chakisain Inter College

देहरादून। श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के विकासखंड थलीसैण के अंतर्गत राजकीय इंटर कॉलेज टीला एवं राजकीय इंटर कॉलेज चाकीसैंण की सूरत बदली नजर आयेगी। दोनों विद्यालयों के भवनों के मरम्मत एवं अनुरक्षण के लिये रू0 42.46 लाख मंजूर कर दिये हैं, इसके साथ ही निर्माण कार्य के लिये कार्यदायी संस्था भी नामित कर दी गई है। इस संबंध में शीघ्र ही शासन स्तर से आदेश जारी कर दिये जायेंगे।

Tila and Chakisain Inter College

Tila and Chakisain Inter College :- सूबे के विद्यालयी शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने मीडिया को जारी बयान में बताया कि प्रदेश के राजकीय विद्यालयों में अवस्थापना संरचना एवं भौतिक संसाधान उपलब्ध कराना राज्य सरकार की प्राथमिकता में है और सरकार हर स्तर से विद्यालयों को सुविधा सम्पन्न बनाने में जुटी है।

इसी क्रम में राज्य सरकार ने श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के थलीसैंण विकासखंड के दूरस्थ विद्यालयों राजकीय इंटर कॉलेज टीला एवं राजकीय इंटर कॉलेज चाकीसैण में मरम्मत एवं अनुरक्षण संबंधी कार्यों के लिये रू0 42.46 लाख की धनराशि की मंजूरी दे दी है। जिसमें राजकीय इंटर कॉलेज चाकीसैण में मरम्मत कार्य के लिये रू0 25.60 लाख एवं राजकीय इंटर कॉलेज टीला को रू0 16.86 लाख शामिल है।

Tila and Chakisain Inter College

Tila and Chakisain Inter College में मरम्मत एवं निर्माण कार्य :-

विभागीय मंत्री ने बताया कि दोनों राजकीय विद्यालयों में मरम्मत एवं निर्माण कार्य के लिये राज्य सेक्टर से धनराशि स्वीकृत कर दी गई है। जबकि ग्रामीण निर्माण विभाग को कार्यदायी संस्था नामित किया गया है। इस संबंध में शीघ्र ही शासन स्तर से आदेश जारी कर दिये जायेंगे।

डा. रावत ने बताया कि दोनों विद्यालयों में निर्माण कार्य शीघ्र शुरू कर दिया जायेगा ताकि समय पर विद्यालयों के भवनों की मरम्मत एवं सौन्दर्यीकरण हो सके और छात्र-छात्राओं को इसका लाभ मिल सके।

डा. रावत ने कहा कि श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के अन्य विद्यालयों की स्थिति को भी सुधारा जायेगा। इसके अलावा क्षेत्र के विभिन्न विद्यालयों में अधूरे पड़े निर्माण को शीघ्रता के साथ पूरा कर विद्यालयों में साज-सज्जा एवं मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी, जिसके लिये विभागीय अधिकारियों भी निर्देश दे दिये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *