अपराधउत्तराखंड

STF ने धोखाधड़ी करने वाले राष्ट्रीय गिरोह का किया पर्दाफाश, देखिए कैसे करते है धोखाधड़ी

Spread the love

हर्षिता टाइम्स।
देहरादून। एस०टी०एफ०/साईबर क्राईम उत्तराखंड ने ओएलएक्स के माध्यम से भारतीय सेना का जवान बनकर हजारों लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले राष्ट्रीय गिरोह का पर्दाफाश किया। प्रतिरूपण, सेक्सटॉर्शन, लोन ऐप, विशिंग, फर्जी कस्टमर केयर सर्विस नंबर और पहचान की चोरी के जरिए देश के कोने कोने में लोगों को ठग चुका है।
पूरे देश में दो हजार से ज्यादा शिकायतें है दर्ज
साइबर अपराधियों द्वारा जनता से धोखाधड़ी करने के नित्य नए तरीके अपनाए जा रहे हैं। इसी क्रम में शिकायतकर्ता सुधीर कुमार पोखाल, निवासी हर्रावाला, डोईवाला, जनपद देहरादून के साथ अज्ञात व्यक्ति द्वारा स्वंय को भारतीय सेना में बताकर अपनी कार बेचने के नाम पर 6,50,000/- (छः लाख पचास हजार) रुपये की धोखाधड़ी की गई। इनकी शिकायत पर थाना डोईवाला देहरादून में मु0अ0सं0 23/2023 धारा 420 भादवी पंजीकृत किया गया, जिसकी विवेचना साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून मैं नियुक्त उ0नि0 कुलदीप टम्टा के सुपुर्द की गयी।
पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयासों से साक्ष्य एकत्रित करते हुये इस गिरोह का पर्दाफाश किया गया है एवं 01 अभियुक्त वसीम अकरम पुत्र इब्राहिम खान, निवासी पथराली, मेवात, हरियाणा को बादशाहपुर गुड़गांव से गिरफ्तार किया है।
अपराधी ने पूरे भारत में विभिन्न अपराध करने के लिए 14 अलग-अलग फोन का इस्तेमाल किया था। अपराधी द्वारा चलाये जा रहे बैंक खाते सं0 922010061440429 से पूरे भारत में कई पीड़ितों से पैसे लिए गए हैं। संदिग्ध आरोपी ने प्रतिरूपण, सेक्सटॉर्शन, लोन ऐप, विशिंग, फर्जी कस्टमर केयर सर्विस नंबर और पहचान की चोरी के जरिए पूरे भारत में लोगों को ठगा है।
प्रारंभिक विश्लेषण के आधार पर अपराधी द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे हैंडसेट में इस्तेमाल किए गए संदिग्ध नंबरों पर देश भर में कुल दो हजार से ज्यादा शिकायतें प्राप्त हुई हैं जो उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, , गुजरात, जम्मू कश्मीर, महाराष्ट्र, केरल आदि राज्यों से संबंधित है।
अपराध का तरीकाः- अभियुक्त द्वारा व्स्ग् पर स्वंय को भारतीय सेना का जवान बताकर अपनी कार बेचने व कार को कुरियर के माध्यम से भेजने की बात कहकर आम जनता से धोखाधडी की जाती है। साथ ही कुछ लोगों को ॅींजेंचच के माध्यम से अश्लील वीडियो कॉल कर उसकी रिकॉर्डिंग कर ब्लैकमेल करते हुए पैसों की मांग भी की गई है ।
गिरफ्तार अभियुक्त-
1- वसीम अकरम पुत्र इब्राहिम खान निवासी पथराली मेवात हरियाणा को बादशाहपुर गुड़गांव उम्र 28 वर्ष
बरामदगी-
1- मोबाइल फोन- 04
2- सिम कार्ड – 05
3- डेबिट कार्ड – 03
4- आधार कार्ड – 02
5- पैन कार्ड – 01
पुलिस टीम-
1- उ0नि0 कुलदीप टम्टा
2- उ0नि0 राजेश ध्यानी
3- उ0नि0 प्रतिभा
4- कानि0 शादाब अली
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड आयुष अग्रवाल द्वारा जनता से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार के लोक लुभावने अवसरो/फर्जी साइट/धनराशि दोगुना करने व टिकट बुक करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें। किसी भी प्रकार के ऑनलाईन शॉपिंग/पेमैन्ट करने से पूर्व उक्त साईट का पूर्ण वैरीफिकेशन स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें तथा गूगल से किसी भी कस्टमर केयर नम्बर सर्च न करें। कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें । वित्तीय साईबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें । इसके अतिरिक्त गिरफ्तारी के साथ-साथ साईबर पुलिस द्वारा जन जागरुकता हेतु अभियान के अन्तर्गत हैलीसेवा वीडियो साइबर पेज पर प्रेषित किया गया है। जिसको वर्तमान समय तक 40,000 लोगों द्वारा देख कर 216 लोगों द्वारा शेयर किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *