अपराध

उत्तराखंड साइबर पुलिस को मिली सफलता : देशभर में नेशनल इंश्योरेंस फ़्रॉड का मास्टरमाइंड नोएडा से गिरफ्तार, सैकड़ों लोगों को बनाया ठगी का शिकार

Spread the love

Fraud Mastermind

देहरादून। विजयदशमी के दिन उत्तराखंड एसटीएफ के नेतृत्व में देहरादून साईबर क्राइम थाना पुलिस ने नेशनल इंश्योरेंस Fraud Mastermind को किया गिरफ्तार हैं। देशभर में सैकड़ांे लोगों के साथ करोड़ों रुपए ठगी करने वाले साइबर क्रिमिनल गौरव अग्रवाल पुत्र विपिन अग्रवाल को नोएडा के गोपाल अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया गया।

अभियुक्त मूल रूप से उत्तरप्रदेश के जनपद बागपत थाना बड़ोत काशीराम पूरा कॉलोनी का रहने वाला हैं। हालांकि वर्तमान में 28 वर्षीय गौरव नोएडा के गोपाल अपार्टमेन्ट बेहरामपुर में रहता था। साइबर पुलिस के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्त गौरव अग्रवाल द्वारा खुद बीमालोकपाल बताकर देहरादून निवासी एक व्यक्ति से बंद पड़े इंश्योरेंस पॉलिसी को जारी रखने के नाम पर उनसे 30 लाख रुपए की धोखाधड़ी (Fraud Mastermind) की गिरफ्त में आया।

राष्ट्रीय स्तर का साइबर क्रिमिनल गौरव अग्रवाल ने अपने गिरोह के साथ मिलकर एचडीएफसी, भारती एक्सा, आदित्य बिरला जैसे इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर देश भर से सैकड़ों लोगों को करोडों रुपए की ठगी में अहम भूमिका निभाई है।

IRDAI, NPCL और Insurance Ombudsman से बताकर Fraud Mastermind :-

अभियुक्त बन्द पड़ी बीमा पॉलिसी को जारी रखने के लिए आईआरडीएआई, एनपीसीएल और बीमालोकपाल से बताकर धोखाधड़ी (Fraud Mastermind) को अंजाम देता आया हैं।

देहरादून साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन के अनुसार कुछ समय पहले देहरादून के बल्लूपुर आशीर्वाद एंक्लेव निवासी उमेश चंद्र जोशी पुत्र देवी दत्त जोशी द्वारा एक शिकायत दर्ज कराई गई। शिकायतकर्ता के अनुसार कुछ वित्तीय कारणों से उनके द्वारा चलायी जा रही इंश्योरेंस पॉलिसियों को जारी रखने में समस्या आ गई थी।

इसी बीच एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा मोबाईल से कॉल कर स्वंय को बीमालोकपाल अधिकारी एवं एनपीसीआई अधिकारी बताते हुए उन्हें अवगत कराया गया कि पॉलिसी एजेंट द्वारा उनको गुमराह किया गया है। जबकि में जांच करने पर आपको रकम वापस की जानी है। ऐसे में कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के बाद आपकी धनराशि वापस कर दी जाएगी।

औपचारिकताओं की इस प्रक्रिया के दौरान अज्ञात व्यक्तियों द्वारा अलग-अलग बैंक खाता में धोखाधड़ी से कुल 2927768/- जमा करवा ठगी गई। शिकायतकर्ता की प्रार्थना पत्र पर प्रारंभिक जांच पड़ताल के बाद धारा 420/120बी आईपीसी व 66 डी आईटीएक्ट बनाम अज्ञात का अभियोग पंजीकृत किया गया।

साइबर पुलिस के मुताबिक दर्ज मुकदमे के तहत अज्ञात अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही के लिए गठित टीम द्वारा विस्तृत तकनीकी जांच के बाद संदिग्ध अभियुक्त का बडौत बागपत (यूपी) व नोएडा से सम्बन्ध होना पाया गया। इसी जानकारी के आधार 23 अक्टूबर 2023 को गैर प्रान्त उ0प्र0 रवाना किया गया।

पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से साक्ष्य एकत्रित करते हुये 30 लाख रुपये की ठगी करने वाले अभियुक्त गौरव अग्रवाल पुत्र विपिन अग्रवाल को गोपाल अपार्टमेन्ट बेहरामपुर नोएडा से गिरफ्तार किया गया.. अभियुक्त के कब्जे से घटना में प्रयुक्त 01 मोबाईल फोन, आधार कार्ड, पेन कार्ड, तीप डेबिट कार्ड, बरामद किया गया।

Fraud  Mastermind के अपराध का तरीका:

गिरफ्तार अभियुक्त गौरव अग्रवाल द्वारा अपने अन्य साथियों से मिलकर जो व्यक्ति इंश्योरेंस पॉलिसी चलाने में असमर्थ हैं या पॉलिसी का प्रयोग नहीं कर रहे हैं, उन व्यक्तियों की निजी जानकारी प्राप्त कर उनको विभिन्न माध्यमों से सम्पर्क किया जाता हैं। इसके बाद पॉलिसी की धनराशि उनको वापस करने का लालच देकर व आईआरडीएआई, एनपीसीएल और बीमालोकपाल के नामों का प्रयोग करते हुए धोखाधड़ी अपराध कारित किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *