अपराधउत्तराखंड

डोईवाला पुलिस ने नये तरीके से ATM मे जालसाजी करने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह के 04 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार

Spread the love

ATM

हर्षिता टाइम्स।
देहरादून, 10 सितंबर। डोईवाला पुलिस को निजी सूचना तन्त्र के माध्यम से जानकारी हुयी कि 02 कार, जिसमे एक कार हरियाणा तथा दूसरी कार दिल्ली नम्बर की है। पुलिस को सुचना तंत्र से मिली कि कुछ लडके जो एटीएम मे जालसाजी कर रूपयो की चोरी कर रहे है।

प्रभारी निरीक्षक द्वारा पुलिस टीम को भलि-भांति ब्रीफ कर आवश्यक आदेश-निर्देश देकर सौंग नदी पुल डिग्री कालेज डोईवाला पर संदिग्ध व्यक्तियो/वाहनो की चौकिंग हेतु भेजा गया।

पुलिस टीम को चौकिंग के दौरान वाहन हुंडई एसेन्ट DL 4CAP 0171 दिखायी दी, जिसको रोककर चौक किया तो कार मे 04 व्यक्ति 1- अमित कुमार पुत्र राज गिरी सिहं निवासी RZR 110 चाणक्य पैलेस पार्ट 2- थाना डाबडी जिला जनकपुरी दिल्ली-59 2.सुनील कुमार झा पुत्र नरेश चन्द्र निवासी म0न0 247 गली न0 22 श्यामबिहार कालोनी थाना छावला जिला नजफगंढ दिल्ली 3- शिवम सिहं पुत्र पंकज सिहं निवासी 104 भगवती गार्डन एक्सटैंशन गली न0 15 उत्तम नगर थाना उत्तम नगर नई दिल्ली 4- हनी पुत्र महिपाल सिहं निवासी द्धारिका मोड 55 फुटा नवादा हाउसिगं काम्पलेक्स R-3 10 3 फ्लोर-5 थाना मोहनगढ जिला मोहनगढ दिल्ली सवार थे। इनके दो साथी नवाब और सौरभ निवासी दिल्ली फरार है।

पुलिस द्वारा वाहन की तलाशी लेने पर कार के डैशबोर्ड से 270000/- रू0 मिले, उक्त रूपयो के सम्बन्ध मे इन लोगो से विस्तृत/गहनता से पूछताछ की गयी तो बिना कोई संतोषजनक उत्तर दिये इधर-उधर की बाते करने लगे, जब उक्त व्यक्तियो से सख्ती से पूछताछ की गयी तो उनके द्वारा बताया गया कि उपरोक्त सभी लोग दिल्ली के निवासी है, और हम ATM में काली पट्टी लगाकर जालसाजी से लोगो के पैसे चुरा लेते है।

इन्होंने डोईवाला क्षेत्र मे 05 एटीएम मे जालसाजी कर ATM मे काले रंग की फाईबर की पट्टी लगाकर उक्त धनराशि चोरी की है । अभियुक्तो से ATM मे इनके द्वारा लगाने वाली काली पट्टी, ATMखोलने हेतु 04 चॉबी व 05 एटीएम कार्ड तथा 270000/- रू0 नगद बरामद हुए

इनसे ATM मे की गयी चोरी से बरामद रूपये व चोरी मे प्रयोग करने वाले संसाधन/वाहन बरामद होने पर अभि0गण को गिरफ्तार किया गया। घटना का ख़ुलासा करने वाली पुलिस टीम को पुलिस उपमहानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा 20 हज़ार रुपये के इनाम की घोषणा की गई!

ATM
atm heaker

अभियुक्तगण द्वारा ATM से अपराध करने का तरीका व पूछताछ का विवरण –

पूछताछ में अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि वे सभी दिल्ली के निवासी है, तथा उत्तराखण्ड मे घूमने के बहाने आकर एकान्त मे स्थित गार्ड रहित ATM मे जाकर पहले रैकी करते है तथा मौका देखकर ATM मे रूपये निकासी वाले स्थान पर एक काले रंग की 9-10 इन्च लम्बी व 2 इन्च चौडी काले रंग की फाईबर की पट्टी लगा देते है।

जिससे कोई व्यक्ति जब एटीएम से रूपये निकालता है तो रूपये उसके खाते से तो कट जाते है पर ATM से बाहर नही आ पाते तथा ATM मे ही फंस जाते है। अभियुक्तो मे से एक व्यक्ति ATM के अन्दर बने केबिन मे पहले से ही छुपा रहता है तथा रूपये निकालने वाले व्यक्ति के बाहर जाते ही अपने पास उपलब्ध मास्टर-की (नकली चॉबी) से ATM खोलकर ATM मे फंसे रूपये निकाल लेता है तथा उसके बाद पुनः उक्त काली पट्टी ATM के रूपये निकासी वाले स्थान पर लगा देता है। शेष अभियुक्त ATM के बाहर रहकर आने-जाने वालो पर नजर रखते है।

गैंगलीडर/सरगना अमित कुमार पुत्र राजगिरी सिहं द्वारा पूछने पर बताया कि मैं 10 वी पास हूँ तथा मेरा दिल्ली में CSC सेंटर है, वर्ष 2010-11 मे मैं दिल्ली में ATM मे कैश डालने वाली कम्पनी ब्रिगंस आर्या मे काम करता था । जिस कारण मुझे ATM मशीन खोलने व बन्द करने की जानकारी है। मेरे दिमाग मे आया कि यदि ATM मशीन मे जहां स्थान से रूपये मशीन से बाहर आते है, उसे किसी चीज से बन्द किया जाये तो जैसे ही कोई व्यक्ति पैसे निकालने ATM मे आयेगा तो उसके पैसे बाहर नही आयेगे तथा वह मशीन के अन्दर ही रह जायेगे और तब हम उन्हे ले सकते है।

ATM
नये तरीके से ATM मे जालसाजी

एक बार मै राजस्थान गया था तो वहां मुझे ATM मे एक चाबी मिली, जिसे मैने ले लिया। उसके बाद उसी कम्पनी की ATM मशीन मैने ढूंढी और उस पर मैने वो चाबी लगायी तो वह खुल गया। उसके बाद मैने छब्त् कम्पनी व डायवोर्ड कम्पनी के ATM मशीन की चॉबिया तैयार कर ली और पैसे निकालने शुरू किये।

शुरू मे मैने दिल्ली से पैसे निकाले और उसके बाद मैने सोचा की यदि मै लगातार दिल्ली में पैसे निकालूगा तो पकड़ा जाऊंगा, तो मैने अपना एक गैंग बनाया और मैंने यह काम अपने गैंग के सुनील कुमार झा और अन्य साथियों को भी सिखाया। उक्त काम को मैं करीब तीन-चार साल से कर रहा हूं, हमने अब तक दिल्ली, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा तथा उत्तराखंड में इस तरह की घटनाएं की हैं।

उत्तराखंड में हमने पहली बार की है, हम लोग योजना के मुताबिक महीने के द्वितीय शनिवार, रविवार तथा चतुर्थ शनिवार, रविवार को, जब बैको की छुट्टी होती है, तब दिल्ली से निकलते हैं और बैंक की 2 दिन की छुट्टी होने के कारण 2 दिनों तक एटीएम में इस तरह से पैसे निकालते हैं।

ATM
atm heaker

हमने डोईवाला मे दिनांक 08/09/23 को 05 अलग अलग ATM मे उक्त फाईबर की काली पट्टी लगायी थी, ताकि जिनके पैसे निकले वह छुट्टी होने के कारण बैंक में न जा सके। दिनांक 7/9/23 की रात्रि में मैं अपने साथी नवाब और सुनील झा के साथ गाड़ी संख्या HR55 AR 9294 स्विफ्ट डिजायर से दिल्ली से हरिद्वार, ऋषिकेश होते हुए 08 सितम्बर  की सुबह डोईवाला पहुंचा।

हमारे साथी हनी, सौरभ और शिवम जो की पूर्व में ही दो-तीन दिन पहले ऋषिकेश टिहरी गढ़वाल क्षेत्र में आए थे, वे हमें डोईवाला में मिले। इसके पश्चात हमने डोईवाला तथा ऋषिकेश क्षेत्रान्तर्गत एटीएम में पट्टी लगाकर धनराशी निकालने की योजना बनाई, हमने दो टीमों में कार्य किया, जिसमें मैनें, नवाब और सुनील ने डोईवाला के चार- पांच एटीएम में 8 तथा 9 तारीख में पट्टी लगाकर भिन्न भिन्न व्यक्तियों की धनराशी निकाली तथा इसी प्रकार हनी, सौरभ और शिवम ने ऋषिकेश क्षेत्र में (1) IDBI (2) SBI (3) UKO (4) ICICI (5) YES BANK एटीएम में इस तरह की घटनाओं का अंजाम दिया।

ATM
atm heaked

हम लोग अपने पास भिन्न बैंकों के एटीएम भी रखते हैं तथा कम जानकार लोगों को बातों में उलझाकर इनसे एटीएम भी बदल लेते हैं तथा बाद में बदले गए एटीएम से धनराशी निकाल लेते हैं, इस तरह हमारे द्वारा कुल मिलाकर लगभग 3 लाख से अधिक की धनराशि निकाल ली गई थी, जिसमे से कुछ हमारे द्वारा शराब व खाने-पीने आदि मे खर्च कर दी गई है तथा कुछ धनराशि हमारे साथी सौरभ व नवाब के पास है, जो दूसरी गाड़ी स्विफ्ट डिजायर संख्या HR55 AR 9294 के द्वारा यहां से निकल गए हैं।

एसेन्ट कार DL4 CAP 0171 हमारे पास है, वो हनी की है जो कुछ समय पूर्व ही इसके द्वारा खरीदी गयी थी, हम किसी भी घटना को अंजाम देने में उपरोक्त दोनों वाहनो का इस्तेमाल करते हैं। आज भी हमारे द्वारा दोबारा डोईवाला मे चार-पांच एटीएम में काले रंग की पट्टी लगाकर रखी गयी थी, जिन्हे हम निकालने के लिए जा रहे थे, तभी पुलिस ने हमे पकड़ लिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *