अपराधउत्तराखंड

करोड़ों रुपए ठगने वाली फर्जी कंपनी की डायरेक्टर मोनिका उत्तराखंड STF की गिरफ्त में

Spread the love

फर्जी कंपनी

  • एसटीएफ ने देहरादून, चमोली, टिहरी, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी और बागेश्वर जनपद में कई लोगों के साथ करोड़ों रूपये की धोखाधडी करने वाली गैंग की मुख्या अभियुक्ता को किया गिरफ्तार ।
  • अरोपी महिला की गिरपतारी हेतु राज्य के 04 जिलो चमोली, उत्तरकाशी, टिहरी तथा देहरादून से घोषित किया गया था ईनाम। बागेश्वर, पौड़ी और रुद्रप्रयाग से भी थी, वांछित।
  • आरोपी के विरुद्ध एक दर्जन से ज्यादा धोखाधड़ी के अभियोग हैं, चारों जिलों में दर्ज।
    पिछले 02 वर्षो से उत्तराखंड के 07 जिलों की पुलिस के लिये बनी थी सिरदर्द। गैंगस्टर में भी थी वांछित।
  • पीड़ितों ने आरोपी की गिरफ्तारी पर एसएसपी एसटीएफ को दिया धन्यवाद।

हर्षिता टाइम्स।
देहरादून: चिटफंड कंपनी के नाम पर सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपए ठगने वाली फर्जी कंपनी की डायरेक्टर मोनिका कपूर को उत्तराखंड STF ने दिल्ली के पंजाबी बाग (प्रगति अपार्टमेंट) से गिरफ्तार किया है… ऑपरेशन प्रहार के तहत सटीएफ के गिरफ्त में आयी 61 हजार की इनामी अभियुक्ता मोनिका कपूर पिछले 2 साल से फरार चल रही थी।

इन्वेस्टमेंट के नाम पर गरीब तबक़े के लोगों से धोखाधड़ी करने वाली “जनशक्ति मल्टी स्टेट मल्टी परपज को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड की डायरेक्टर मोनिका कपूर के खिलाफ देहरादून,टिहरी, उत्तरकाशी और चमोली जैसे 04 जनपदों में गैंगस्टर सहित 10 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं. STF के अनुसार RD-FD के नाम पर करोडों रुपये ठगने करने वाले इस फर्जी कंपनी के तीन आरोपी पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुके हैं। हालांकि अभी भी इस घोटालें में कुछ लोग फरार है, जिनकी तलाश जारी है।

जनपद बागेश्वर, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, जनपद चमोली, उत्तरकाशी, टिहरी तथा देहरादून के विभिन्न थानों में करीब 15 अभियोगो में नामजद/ फरार/ वांछित /ईनामी अभियुक्ता मोनिका कपूर पत्नी सन्दीप कपूर नि0 345 पंजाबी बाग, प्रगति अपार्टमेन्ट दिल्ली को गिरफ्तार किया गया। जिस पर उक्त 04 जनपदो से अलग-अलग कुल 61,500 /- रूपये का ईनाम घोषित किया हुवा था। इन जनपदों में इस महिला के विरूद्व करीब 15 अभियोग पंजीकृत किए हुए हैं।

अपराध का विवरणः-

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि अपराधी मोनिका कपूर जनशक्ति मल्टी स्टेट मल्टी परपज को-ऑपरेटिव सोसाईटी लि0 नामक कम्पनी की निदेशक थी, जिसका मुख्यालय राठी बिल्डिंग प्लाट न0 231/18ए बीना एन्कलेव नागलोई दिल्ली था। जिसके द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर उक्त कम्पनी बनाई तथा वर्श 2015 से उत्तराखण्ड राज्य के अलग-अलग जनपदों के विभिन्न तहसीलो / उपखण्डो में स्थानीय शिक्षित व बेरोजगार नवयुवको को कम्पनी मे कम्पनी का प्रचार करने व अन्य नवयुवको को जोडने व उनसे निवेश करने हेतु प्रेरित किया।

जिससे स्थानीय बेरोजगार नवयुवक कम्पनी से जुड गये तथा आरोपी के अनुसार व आश्वासन पर कम्पनी के खातो में उनके बचत खाते/ आर0डी0 / एफ0डी0 व दैनिक बचत खाते आदि खुलवाये गये। जिनके द्वारा कम्पनी के खातो में धनराशि जमा कराई गई। जिनसे समय-समय पर धनराशि आहरित की जाती थी। जिससे स्थानीय व्यक्तियों को कम्पनी में खाता खोलने पर पुरा यकीन हो गया था। जब कम्पनी में व्यक्तियों का काफी धनराशि जमा हो गई और उनकी आर0डी0/ बचत पत्र का समय पूर्ण होने लगा तो वर्श 2021 के अन्त में कम्पनी फरार हो गई।

धोखाधडी कर गबन की गई धनराशि:-

1. जनपद उत्तरकाशी- 16 करोड लगभग।
2. जनपद टिहरी- 1,25 करोड लगभग।
3. जनपद देहरादून – 13 करोड लगभग।
4. जनपद चमोली-  06 करोड लगभग।

गिरफ्तार अभियुक्ताः-

1. मोनिका कपूर पत्नी सन्दीप कपूर नि0 345 पंजाबी बाग, प्रगति अपार्टमेन्ट दिल्ली

पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्तः
1. कम्पनी का पदाधिकारीर:- कपिल देव राठी
2. कम्पनी का पदाधिकारीर:- पकॅज गम्भीर।
3. कम्पनी का पदाधिकारीः- अनिल रावत।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *