Home ख़बरसार ‘आज़ादी क्वेस्ट’ मनोरजंन के माध्यम से युवाओ ंको राष्ट्र निर्माण से जोड़ने...

‘आज़ादी क्वेस्ट’ मनोरजंन के माध्यम से युवाओ ंको राष्ट्र निर्माण से जोड़ने का एक प्रयास: विजय कुमार

हर्षिता टाइम्स।
देहरादून 26 अगस्त। पीआईबी देहरादून के अपर महानिदेशक विजय कुमार ने जिंगा इंडिया के सहयोग से सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा विकसित ऑनलाइन शैक्षिक मोबाइल गेम्स की एक श्रृंखला श्आजादी क्वेस्ट’ के शुभारंभ के बारे में आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के आयोजन के हिस्से के रूप में और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की कहानी को सामने लाने के लिए, कें द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने 24 अगस्त को ‘आजादी क्वेस्ट’ का शुभारम्भ किया था। यह स्वतंत्रता संग्राम में हमारे स्वतंत्रता सेनानियों और गुमनाम नायकों के योगदानों का सम्मान करने की दिशा में सरकार द्वारा किए गए विभिन्न प्रयासों की एक श्रृंखला में एक और कदम है। ये गेम ऑनलाइन गेम खेलने वालों के विशाल बाजार का उपयोग करने और गेम के माध्यम से उन्हें शिक्षित करने कीदिशा में एक प्रयास है। भारत सरकार के विभिन्न विभागों ने देश के कोने-कोने से गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में जानकारी एकत्रित की है। आज़ादी क्वेस्ट इन जानकारियों से मिलने वाली सीख को आकर्षक और संवादात्मक बनाने का एक प्रयास है।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय का भारत में एवीजीसी (animation, visual effects, gaming and comics) क्षेत्र
को बढ़ावा देने का निरंतर प्रयास रहा है। पिछले कुछ वर्षों में भारत गेमिंग के क्षेत्र में शीर्ष पांच देशों में शामिल हो गया
है। अकेले 2021 में गेमिंग के क्षेत्र में 28 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि 2020 से लेकर 2021
तक ऑनलाइन गेम खेलने वालों की संख्या में आठ प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और 2023 तक ऐसे गेम खेलने वालों
की संख्या 45 करोड़ तक पहुंच जाने की उम्मीद है।

ये ऐप हमारे एवीजीसी क्षेत्र की क्षमताओं को बढ़ाने में सहायक सिद्ध होंगे और साथ ही हमारे गौरवशाली इतिहास को
दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचायेंगे। इन ऐप में शामिल की गई जानकारियां प्रकाशन विभाग और भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद द्वारा संकलित की गईं हैं और ये ऐप आसानी से हमारे स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी प्रामाणिक जानकारियों का एक सुलभ खजाना बन जायेंगे। ये ऐप हमारे स्वतंत्रता संग्राम के बारे में जानने के लिहाज से महत्वपूर्ण शिक्षाप्रद उपकरण साबित होंगे। ये ऐप यूज़र्स का मनोरंजन करेंगे, उन्हें जोड़ेंगे और उन्हें शिक्षित भी करेंगे।

अपनी तरह की ये अनूठी पहल दरअसल माननीय प्रधानमंत्री के गेमिंग और खिलौना उद्योगों के हितधारकों से किए
उस आह्वान से प्रेरित है कि वे ऐसे गेम और खिलौने विकसित करें जो भारत के स्वतंत्रता संग्राम की कहानियों व मील
के पत्थरों और महान स्वतंत्रता सेनानियों की वीरता को प्रदर्शित कर सकें ताकि लोगों को इससे जोड़ा जा सके,
मनोरंजित और शिक्षित किया जा सके। इस सीरीज ‘आज़ादी क्वेस्ट’ के पहले दो गेम भारत के स्वतंत्रता संग्राम की
कहानी बताते हैं, जिसमें प्रमुख मील के पत्थरों और नायकों को उभारा गया है। इसे खेल खेलने के मज़ेदार तरीके के
साथ पिरोया गया है। इस गेम की विषय वस्तु सरल लेकिन व्यापक है, जिसे प्रकाशन विभाग द्वारा खासतौर पर
क्यूरेट किया गया है और भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद के विशेषज्ञों द्वारा जांचा परखा गया है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में विजय कुमार अपर महानिदेशक पीआइबी, राघवेश पांडेय, संयुक्त निदेशक, डीडी न्यूज़; रोहित त्रिपाठी, उप निदेशक, पीआइबी; और डॉ संतोष आशीष, सहायक निदेशक, कें द्रीय संचार ब्युरो भी उपस्थित थे।

‘आज़ादी क्वेस्ट’ के बारे में:
प्रकाशन विभाग ने ज़िंगा इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे ताकि अभी चल रहे आज़ादी के अमृत महोत्सव के तहत गेम्स की एक श्रृंखला विकसित की जा सके। आज़ादी क्वेस्ट गेम भारत के लोगों के लिए अंग्रेजी और हिंदी में एंड्रॉइड और आईओएस उपकरणों के लिए उपलब्ध हैं और सितंबर 2022 से ये दुनिया भर में उपलब्ध होंगे।’शिक्षा को खेल की तरह बनाने’ की अवधारणा पर आधारित ये अनूठी गेम सीरीज देश में शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाएगी। गेम- धारित शिक्षा दरअसल कक्षा और उम्र से परे सीखने की प्रक्रिया का विस्तार करके एक बराबरी वाली और ताउम्र की शिक्षा प्रदान करती है। आज़ादी क्वेस्ट सीरीज भारत के स्वतंत्रता संग्राम और देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों की किंवदंतियों का ज्ञान प्रदान करेगी, जिससे खेलने वालों के मन में गर्व और कर्तव्य की भावना पैदा होगी।

ये गेम उनकी औपनिवेशिक मानसिकता को दूर करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे जिस पर प्रधानमंत्री ने अपने 76वें स्वतंत्रता दिवस के भाषण में ‘अमृत काल के पांच प्रण’ के रूप में ज़ोर दिया था।

इस सीरीज का पहला गेम है ‘आज़ादी क्वेस्ट: मैच 3 पज़ल’ बड़ा सरल और खेलने में आसान कैजुअल गेम है, जो खिलाड़ियों के सामने 1857 से 1947 तक भारत की स्वतंत्रता की शानदार यात्रा को प्रस्तुत करता है। जैसे-जैसे खिलाड़ी 495 लेवल में फैले इस गेम को खेलते हुए आगे बढ़ते हैं, वे 75 ट्रिविया कार्ड इकट्ठा कर सकते हैं, जिनमें से हर कार्ड इतिहास के महत्वपूर्ण क्षणों को प्रदर्शित करता है। वे लीडरबोर्ड पर मुकाबला कर सकते हैं और सोशल मीडिया पर इन-गेम पुरस्कार और प्रोग्रेस साझा कर सकते हैं। दूसरी ओर ‘आज़ादी क्वेस्ट: हीरोज़ ऑफ भारत’ को 75 लेवल में फैले 750 प्रश्नों के माध्यम से भारत की स्वतंत्रता के नायकों के बारे में खिलाड़ियों के ज्ञान को परखने वाले एक क्विज़ गेम के तौर पर डिज़ाइन किया गया है। इसमें उन्हें 75 ‘आज़ादी वीर’ कार्ड के जरिए कम ज्ञात नायकों के बारे में भी बताया जाता है जिन्हें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी साझा किया जा सकता है।

प्रकाशन विभाग व जिंगा इंडिया के बीच साल भर की साझेदारी इस तरह के और भी गेम लेकर आएगी। ये साझेदारी
कंटेंट और फीचर्स के लिहाज से मौजूदा गेम्स में विस्तार भी करेगी। इसके पीछे लोगों और खासकर छात्रों व युवाओं
को भारत के स्वतंत्रता संग्राम के विभिन्न पहलुओं के बारे में शिक्षित करने और उनमें देशभक्ति की भावना पैदा करने
का विजन है। ये गेम खिलाड़ियों को हर महीने रोमांचक पुरस्कार भी प्रदान करेंगे, जिसमें एक प्रमाण पत्र भी शामिल
है जो आजादी क्वेस्ट को पूरा करने वालों को दिया जाएगा।

‘आजादी क्वेस्ट’ ब्रोशर को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें: http://davp.nic.in/ebook/goi_print/
index.html

इन गेम्स को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें:
*
आईओएस उपकरण:
https://apps.apple.com/us/app/azadi-questmatch-
3-puzzle/id1633367594

एंड्रॉइड उपकरण
https://play.google.com/store/apps/details?
id=com.zynga.missionazaadi

आईओएस उपकरण:
https://apps.apple.com/us/app/heroes-ofbharat/
id1634605427

एंड्रॉइड उपकरण
https://play.google.com/store/apps/details?
id=com.zynga.heroes.of.bharat

RELATED ARTICLES

स्वच्छ भारत मिशन में उत्तराखंड नंबर वन

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। 2 अक्टूबर को विज्ञान भवन में राष्ट्रपति एवं जल शक्ति मंत्रालय के मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की उपस्थिति में उनके द्वारा 6...

CS डॉ संधु ने हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्याे का निरीक्षण किया

हर्षिता टाइम्स। मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने मंगलवार को हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही मास्टर...

पार्किंग्स के लिए साइट स्पेसिफिक कम्पलीशन प्लान तैयार करने के CS ने दिए निर्देश

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सोमवार को सचिवालय में प्रदेश में बनाई जाने वाली नई पार्किंग प्रोजेक्ट्स की प्रगति की...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

उत्तराखंड का पहला ओटीटी प्लेटफार्म हुआ लांच

देहरादून। उत्तराखंड के पहले वीडियो ओटीटी प्लेटफार्म अम्बे सिने का शुभारम्भ संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा...

दो दिवसीय फिक्की फ्लोर बाजार संपन्न हुआ

हर्षिता टाइम्स। देहरादून, 02 अक्टूबर 2022: फिक्की फ्लो उत्तराखण्ड चैप्टर का दो दिवसीय फिक्की फ्लो बाजार  आज  धूम धाम से समाप्त हुआ । आज विधानसभा...

स्वच्छ भारत मिशन में उत्तराखंड नंबर वन

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। 2 अक्टूबर को विज्ञान भवन में राष्ट्रपति एवं जल शक्ति मंत्रालय के मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की उपस्थिति में उनके द्वारा 6...

CM धामी ने उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को शहीद स्थल कचहरी में उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने कहा...

देहरादून में दिखेगा वर्चुअल बाजार

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। उत्तराखंड वर्चुअल बाजार ऑर्गेनाइजर ऋचा कर्णवाल ने प्रेसवार्ता करते हुए बताया कि 30 सितंबर से 2 अक्टूबर तक हिमालय गार्डन में हमारे...

बहु-प्रतीक्षित ऐक्शन थ्रिलर ‘विक्रम वेधा’ के साथ मोबिल ने साझेदारी की

देहरादून। भारत में इंजन ऑयल के प्रमुख ब्रांड, मोबिल ने बहु-प्रतीक्षित ऐक्‍शन थ्रिलर ‘विक्रम वेधा’ के साथ साझेदारी की है। विक्रम वेधा 30 सितम्बर...

दिल्ली के नवाब साहब का डीजे बैंड मचाएगा धूम

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। शारदीय नवरात्रि पर ‘द क्रिएटिव हब’ की और से एक अक्टूबर को कैनाल रोड स्थित लकसूरिया फार्म बाई सॉलिटियर में बारहवी डांडिया...

अच्छी खबर : उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड

हर्षिता टाइम्स। नई दिल्ली/देहरादून। विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर उत्तराखंड राज्य को पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बेस्ट एडवेंचर टूरिज्म डेस्टिनेशन और पर्यटन के...

CS डॉ संधु ने हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्याे का निरीक्षण किया

हर्षिता टाइम्स। मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने मंगलवार को हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही मास्टर...

पार्किंग्स के लिए साइट स्पेसिफिक कम्पलीशन प्लान तैयार करने के CS ने दिए निर्देश

हर्षिता टाइम्स। देहरादून। मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सोमवार को सचिवालय में प्रदेश में बनाई जाने वाली नई पार्किंग प्रोजेक्ट्स की प्रगति की...